GK Tricks – प्रथ्वी की आंतरिक संरचना (internal structure of Earth)

पृथ्वी की आंतरिक संरचना 

आस्ट्रिया के भूगोल शास्त्री स्वेज ने पृथ्वी की आंतरिक संरचा को 3 परतों में बांटा है !
1. सिआल (SIAL) – इस परत में Silica और Aluminium अधिकता मे पाए जाते है। इस परत की चट्टानों में अम्लीयता अधिक होती है।
2. सीमा (SIMA) – इस परत में Silica – Magnesium की अधिकता होती है। इस परत की चट्टानों में बेसाल्ट और ग्रेबों की अधिकता रहती है।
3. निफे (NIFE) – इस परत में Nikel और Iron होता है। इसी परत के कारण पृथ्वी की चुम्बकीय शक्ति (Magnetic Power) होती है।
आधुनिक भूगर्भ शास्त्रियों ने पृथ्वी की आंतरिक संरचना को 3 परतों में विभाजित किया है।
  1. भू-पटल (Crust)
  2. भू प्रवार (Mantle)
  3. क्रोड (Core)
(Crust) भू-पटल –
  • यह पृथ्वी की सबसे ऊपरी और सबसे पतली परत है।
  • इसकी मोटाई 16 किमी. से 40 किमी तक है। भू-पटल की औसत मोटाई 30 किमी. है।
  • महाद्वीपीय भागों मे इसकी मोटाई 40 किमी. तक है।
  • महासागरों के नीचे Crust की मोटाई 5 से 10 किमी. तक पाई जाती है।
  • महाद्वीपीय Crust ग्रेनाइट और नीस चट्टानों की बनी होती है। जिसके ऊपर अवसादी (Sedimentary) चट्टानों की परत पाई जाती है।
  • महासागरीय (Oceanic) Crust बैसाल्ट चट्टानों की बनी है।
  • Crust और Mantle का सबसे ऊपरी भाग मिलकर स्थल मंडल बनाते है ! जिसकी गहराई 100 किमी तक है
  • स्थल मंडल के नीचे दुर्बल मंडल का विस्तार है। इसकी गहराई 100 किमी से 200 किमी. तक है।
  • यह दो भागों में विभक्त है – ऊपरी Crust और निचला Crust इन दोनों के बीच में कोनार्ड असंबद्द्ता पाई जाती है !
  • निचले Crust के बाद Mantle शुरु  होता है , तो इन दोनों यानी Crust और Mantle के बीच भी एक असंबद्द्ता पाई जाती है जिसे मोहो  असंबद्द्ता कहते है !
(Mantle) भू-प्रवार –
  • Mantle पृथ्वी की बीच वाली परत है जिसकी मौटाई 2900 किमी. तक है।
  • Mantle के 2 भाग पाए जाते है। 1.ऊपरी Mantle :- इसकी गहराई 700 किमी. तक है। 2.निचली Mantle :- इसकी गहराई 700 किमी. से 2900 किमी तक है। इन दोनों के बीच रेपटी असंबद्द्ता पाई जाती है !
  • इसके बाद Core शुरु होता है तो Mantle व Core के बीच जो असंबद्द्ता पाई ज़ाती है उसे हम गुटेनबर्ग असंबद्द्ता कहते है  !
क्रोड (Core) –
  • यह पृथ्वी की सबसे आंतरिक भाग है। जो Mantle के नीचे पृथ्वी के केन्द्र तक पाया जाता है।
  • इसकी गहराई 2900 किमी. से 6371 किमी. तक है।
  • Core को दो भागों में बांटा गया है आंतरिक Core और बाहरी Core ! इन दोनो के बीच जो असंबद्द्ता पाई जाती है उसे हम लेहमैन असंबद्द्ता करते है !
  • पृथ्वी के समस्त आयतन (Volume) का 5% Crust , 83% Mantle और 17% Core पाया जाता है।
इन तीनों स्तरों के बीच प्रथ्वी के गर्भ में कुछ असंबद्धताऐं (Discontinuity) पाईं जाती है , जिनके बारे में हम अक्सर भूल जाते है कि कौन सी असंबद्धता किस किन दो स्तरों के बीच पाई जाती है , तो आज हम आपको इसी के बारे में GK Tricks बतानें जा रहे है जिससे कि आप ऊपर (Crust) से नीचे (Core) विभिन्न असंबद्धताऐं (Discontinuity) को क्रम से याद रख पाऐंगे !  कुल 5 असंबद्धताऐं (Discontinuity) पाई जाती है !

GK Tricks

को मोरे गुट्टा लेहे

Explanation

ट्रिकी वर्डअसंबद्धतास्थिति
कोकोनार्डऊपरी Crust व निचले Crust के बीच
मोमोहोCrust व Mantle के बीच
रेरेपेटीऊपरी Mantle व निचले Mantle के बीच
गुट्टागुटेनबर्गMantle व Core के बीच
लेहेलेहमैनऊपरी Core व निचले Core के बीच

No comments:

Post a comment