अंतराष्ट्रीय सीमाएं


रेखा का नाम – डूरंड रेखा (Durand Line)

देशों के मध्य – पाकिस्तान तथा अफगानिस्तान

1886 में सर मार्टिमर डूरंड द्वारा निर्धारित।

रेखा का नाम – मैकमाहोन रेखा (Macmahon Line)

देशों के मध्य – भारत तथा चीन

1120 किमी. लंबी यह रेखा सर हेनरी मैकमोहन द्वारा निर्धारित की गई थी।

रेखा का नाम – रेडक्लिफ रेखा (Radcliffe Line)

देशों के मध्य – भारत तथा पाकिस्तान

1947 में भारत-पाकिस्तान सीमा आयोग के अध्यक्ष सर सायरिल रेडक्लिफ द्वारा निर्धारित।

रेखा का नाम – 17 वीं समानांतर रेखा (17th Parallel)

देशों के मध्य – उत्तरी वियतनाम तथा द. वियतनाम

वियतनाम के एकीकरण के पहले यह देश को दो भागों में बांटती थी।

रेखा का नाम – 24 वीं समानांतर रेखा (24th Parallel)

देशों के मध्य – भारत तथा पाकिस्तान

पाकिस्तान के अनुसार कच्छ क्षेत्र का यह रेखा सही निर्धारण करती है लेकिन भारत इस रेखा को स्वीकार नहीं करता है।

रेखा का नाम – 38 वीं समानांतर रेखा (38th Parallel)

देशों के मध्य – उत्तर कोरिया तथा दक्षिण कोरिया

कोरिया को दो भागों में बांटती है।

रेखा का नाम – 49 वीं समानांतर रेखा (49th Parallel)

देशों के मध्य – अमेरिका तथा कनाडा

अमेरिका तथा कनाडा को दो भागों में बांटती है।

रेखा का नाम – हिंडनबर्ग रेखा (Hindenburg Line)

देशों के मध्य – जर्मनी तथा पोलैंड

प्रथम विश्व युद्ध में जर्मनी की सेना यहीं से वापस लौटी थी।

रेखा का नाम – ओडरनास रेखा (Order-Neisse Line)

देशों के मध्य – जर्मनी तथा पोलैंड

द्वितीय विश्व युद्ध के बाद निर्धारित की गई।

रेखा का नाम – मैगिनाट रेखा (Maginot Line)

देशों के मध्य – जर्मनी तथा फ्रांस

जर्मनी के आक्रमण से बचाव के लिए फ्रांस ने यह रेखा बनाई थी।

रेखा का नाम – सीजफ्राइड रेखा (Seigfrid Line)

देशों के मध्य – जर्मनी तथा फ्रांस

जर्मनी ने यह रेखा बनाई थी !

No comments:

Post a comment